• advertisement_alt
Sign in to follow this  
Followers 0
  • entries
    10
  • comment
    1
  • views
    1,232

About this blog

जय जिनेंद्र 

Entries in this blog

सोने की परख उसे घिस कर, काट कर, गरम कर के और पीट कर की जाती है. उसी तरह व्यक्ति का परीक्षण वह कितना त्याग करता है, उसका आचरण कैसा है, उसमे गुण कौनसे है और उसका व्यवहार कैसा है इससे होता है.

जय जिनेंद्र, 

आदरणीय  मित्रो

विगत वर्ष मे मेरे  व मेरे परिवार के सदस्य के द्वारा  जो  अनजाने से  कोई गलती हुई हो तो वह गलती के लिए  क्षमा याचना करते  है 

 

Sign in to follow this  
Followers 0